Skip to main content

Posts

Showing posts from October, 2019

Most Popular Post

हनुमान जन्मोत्सव पर हनुमान जी के 10 गुणों का अनुसरण | 10 गुणों के सागर श्री हनुमान

श्री हनुमान जन्मोत्सव विशेष  प्रिय भक्तो श्री हनुमान जन्मोत्सव की आप सभी को ढेर सारी शुभकामनाएं। हम सभी जानते हैं कि राम भक्त हनुमान भगवान शिव के 11 अवतार हैं। श्री हनुमान जी महाराज को ही भक्त शिरोमणि की उपाधि भी प्राप्त है क्योंकि सनातन धर्म में श्री हनुमान जी महाराज से बड़ा भक्त ना बताया गया है ना देखा गया है। आज मां अंजनी के लाल पवन पुत्र श्री हनुमान जी महाराज के जन्म उत्सव के उपलक्ष में हम उनके जीवन के उन 10 गुणों की व्याख्या करेंगे जिनका अनुसरण करने से हम अपने व्यक्तित्व में श्री हनुमान जी महाराज के आशीर्वाद की अमिट छाप छोड़ सकते हैं।  अतः आप सभी से प्रार्थना है कि पवन पुत्र हनुमान जी महाराज के 10 गुणों को  ध्यानपूर्वक पढ़ें और इनका अनुसरण करने का प्रयास करें।  जय श्री राम।  हनुमान जी को कलियुग में सबसे प्रमुख ‘देवता’ के रूप में पूजा जाता है। रामायण के सुन्दर कांड और तुलसीदास की हनुमान चालीसा में बजरंगबली के चरित्र पर विस्तार से प्रकाश डाला गया है। इसके अनुसार हनुमान जी का किरदार हर रूप में युवाओं के लिए ही नहीं बल्कि हर आयु वर्ग के लिए प्रेरणादायक है। हनुमान जी के बारे में तुलसीद

नीब करोरी और नीम करोली में अंतर | NEEB KARORI AUR NEEM KAROLI MEIN ANTAR - Shri Kainchi Dham

आई मौत टल गई - श्री कैंची धाम | Aayi maut tal gayi -Shri Kainchi Dham

Kainchi dham ke bhagwan - Shri Kainchi Dham | कैंची धाम के भगवन - श्री कैंची धाम

Neem Karoli Maharaj Ke 108 Mandir | नीम करोली महाराज के 108 मंदिर

कैंची धाम की सिद्घ आत्माएं - श्री कैंची धाम

हनुमान के अवतार नीम करोली बाबा - श्री कैंची धाम | Hanuman Ke Avtar Neem Karoli Baba

नीम करोली बाबा ने युधिष्ठिर को दिया प्राण दान - श्री कैंची धाम